Thu, 15 Sep 2022

विश्व कप 2022 में ऋषभ पंत की जगह मिलना चाहिए था संजू सैमसन को मौका, ये है 4 बड़ी वजह

NNN

टी20 विश्व कप 2022 के लिए भारतीय टीम की घोषणा की जा चुकी है. भारतीय टीम में कई नए चेहरों को शामिल किया गया है. जबकि ऋषभ पंत भी इस टीम का हिस्सा है. जिनका प्रदर्शन बहुत ही खराब रहा है. वही अच्छा प्रदर्शन करने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन को इस टीम में मौका नहीं दिया गया है. आज हम आपको उन चार बड़े कारणों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके चलते संजू सैमसन विश्वकप के लिए सबसे अच्छा विकल्प साबित हो सकते थे. 

1- आईपीएल 2022 में संजू सैमसंग का प्रदर्शन बहुत ही शानदार रहा. उन्होंने अब तक भारत के लिए 26 टी20 मैच खेले हैं. इस दौरान उन्हें केवल पांच पारियों में ही बल्लेबाजी का मौका मिला है और उन्होंने 44 की औसत से 179 रन बनाए हैं. जबकि ऋषभ पंत का औसत 25 का है और उनके बल्ले से केवल 311 रन ही निकले हैं. 

2- बीच के ओवरों में संजू सैमसन का स्ट्राइक रेट बहुत ही अच्छा रहता है और वह लंबे लंबे शॉट लगाने की काबिलियत रखते हैं. साल 2022 की बात करें तो सैमसन का स्ट्राइक रेट 158 से ज्यादा का रहा. जबकि पंत केवल 133 के स्ट्राइक रेट से ही शॉट लगाने में कामयाब हुए.

3- ऑस्ट्रेलिया की तेज रफ्तार पिचों पर संजू सैमसन ज्यादा बेहतरीन खिलाड़ी साबित हो सकते थे. इस बात को खुद कप्तान और हेड कोच भी कह चुके हैं. संजू सैमसन के पास कट और पुल जैसे बेहतरीन शॉट हैं जिन पर उनका पूरा कंट्रोल रहता है. 

4- पंत और सैमसंग दोनों ही जोखिम लेकर बल्लेबाजी करना पसंद करते हैं. लेकिन पंत को जितने भी मौके दिए गए वह मौके को भुनाने में नाकामयाब हुए. जबकि संजू सैमसंग हर मोर्चे पर पद से बेहतर साबित हुए.

Advertisement

Advertisement

Advertisement