Mon, 31 Oct 2022

21 सालों से नहीं टूटा है इस भारतीय क्रिकेटर का ओडीआई में सबसे तेज अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड

C

आजकल फटाफट क्रिकेट का जमाना है, ओडीआई और T20 क्रिकेट में हमेशा ही बल्लेबाज गेंदबाजों पर हावी नजर आते हैं. बल्लेबाज हर गेंद पर शॉट लगाना चाहते हैं. बल्लेबाज तेज गति से रन बनाते हुए जल्द ही अपना अर्धशतक पूरा कर लेते हैं. भारत की ओर से भी कई खिलाड़ियों ने तेज अर्धशतक लगाए हैं. लेकिन आज हम आपको भारत की ओर से ओडीआई में सबसे तेज अर्धशतक लगाने वाले खिलाड़ी के बारे में बताने जा रहे हैं. इस खिलाड़ी का रिकॉर्ड 21 सालों से नहीं टूटा है. 

बता दें कि भारत की ओर से ओडीआई में सबसे तेज अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड अजीत अगरकर के नाम दर्ज है जो 21 सालों से नहीं टूटा है. अजीत अगरकर ने 14 दिसंबर 2000 को जिंबाब्वे के विरुद्ध राजकोट वनडे में 21 गेंदों में अर्धशतक जड़ दिया था और कपिल देव का 22 गेंदों में अर्धशतक बनाने का रिकॉर्ड तोड़ डाला था. आज तक अजीत अगरकर के इस रिकॉर्ड को कोई भी भारतीय बल्लेबाज नहीं तोड़ पाया है.

2000 में जिंबाब्वे की टीम भारत दौरे पर आई थी, जहां दोनों टीमों के बीच पांच मैचों की वनडे सीरीज खेली गई थी. सीरीज का आखिरी मुकाबला राजकोट में खेला गया था. सीरीज पर पहले ही भारतीय टीम ने 3-1 से अपना कब्जा कर लिया था. आखिरी मैच में टॉस जीतकर जिंबाब्वे की टीम ने पहले गेंदबाजी का निर्णय किया.

पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम की शुरुआत बेहद खराब रही. 42 रन पर ही टीम इंडिया के 3 बड़े विकेट गिर चुके थे. युवराज सिंह और वीरेंद्र सहवाग भी जल्दी आउट हो गए. तब हेमांग बदानी और रीतिंदर सिंह सोढ़ी के बीच 102 रन की साझेदारी हुई. लेकिन जब बदानी आउट हो गए तो किसी को भी उम्मीद नहीं थी कि टीम इंडिया 300 के स्कोर तक पहुंचेगी.

लेकिन अजीत अगरकर ने मैदान पर आते ही धमाल मचाना शुरू कर दिया. उन्होंने 21 गेंदों में अर्धशतक जड़ दिया. अजीत अगरकर 25 गेंदों में 67 रन बनाकर नाबाद रहे. इस पारी में उन्होंने 4 छक्के और 7 चौके भी लगाए. भारतीय टीम से मिले लक्ष्य के जवाब में जिंबाब्वे की टीम 262 रन पर ढेर हो गई और टीम इंडिया ने 39 रन से मुकाबला जीत लिया और सीरीज 4-1 से अपने नाम कर ली.है

Advertisement

Advertisement

Advertisement