Thu, 15 Sep 2022

कभी ये क्रिकेटर रहा था वर्ल्ड कप में स्टार परफॉर्मर, अब पेट पालने को भैंस-बकरियां चराने को मजबूर

KKK

ब्लाइंड क्रिकेट में जलवा बिखेरने वाले भालाजी डामोर इन दिनों में बकरियां चरा रहे हैं. उनके पास कमाई का कोई दूसरा जरिया नहीं है और पेट पालने के लिए मजबूरी में उन्हें यह काम करना पड़ रहा है. भालाजी डामोर वही हैं, जिन्होंने 1998 के ब्लाइंड क्रिकेट वर्ल्ड कप में भारत की तरफ से बेहतरीन प्रदर्शन किया था. लेकिन आज उनकी जिंदगी गुमनामी में खो गई है.

भालाजी डामोर ने 1998 में ब्लाइंड क्रिकेट वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन किया था और भारत सेमीफाइनल में भी पहुंचा था, जहां उसे दक्षिण अफ्रीकी टीम से हार का मुंह देखना पड़ा था.

भालाजी डामोर का ऐसा रहा प्रदर्शन 

भालाजी डामोर ने अपने क्रिकेट करियर में बेहतरीन प्रदर्शन किया. उन्होंने अपने करियर में 125 मैच खेले, जिसमें 3125 रन बनाए और डेढ़ सौ विकेट भी चटकाए. उन्हें 1998 के वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन करने के लिए पूर्व राष्ट्रपति केआर नारायणन ने सम्मानित भी किया था. लेकिन उन्हें कोई भी नौकरी उपलब्ध नहीं कराई गई, जिस वजह से आज वह बेरोजगार हैं और मजबूरी में भैंस-बकरियां पाल रहे हैं.

भालाजी डामोर अरावली के पिपराणा गांव के रहने वाले हैं जो इन दिनों खेतों में भी काम करते हैं और भैंस बकरियां चराते हैं. उनकी पत्नी और एक बेटा भी है. पूरा परिवार जमीन पर ही सोता है. उनके पास खाने के लिए बर्तन तक नहीं है.

Advertisement

Advertisement

Advertisement